Available languages:
एंतोनियो गुटेरेश (यूएन महासचिव) विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2020 पर वीडियो सन्देश
3 May 2020 -  “बिना डर या पक्षपात के पत्रकारिता”

पत्रकारों और मीडियाकर्मियों की भूमिका हम सभी के लिए जानकार फ़ैसले लेने में बहुत मददगार होती है.
जब दुनिया कोविड-19 महामारी का सामना कर रही है तो वो फ़ैसले अक्सर ज़िन्दगी और मौत के अंतर को प्रभावित कर सकते हैं.
विश्व प्रैस स्वतंत्रता दिवस पर, हम तमाम सरकारों और अन्य पक्षों से ये गारंटी देने का आहवान करते हैं कि पत्रकार कोविड-19 महामारी के दौरान और उसके बाद भी अपना काम कर सकें.
इस महामारी के फैलाव से दुष्प्रचार (Misinformation) नामक एक अन्य महामारी भी फैली है… हानिकारक स्वास्थ्य परामर्श से लेकर साज़िशों की अफ़वाहों तक.
प्रैस निदान मुहैया कराता है: पुष्ट, वैज्ञानिक, तथ्यों पर आधारित समाचार और विश्लेषण.
लेकिन जब से महामारी शुरू हुई है, बहुत से पत्रकारों को केवल उनका काम करने के लिए, अत्यधिक पाबंदियों और दंडों का शिकार बनाया जा रहा है.
कोविड-19 को हराने के लिए आवागमन की स्वतंत्रता पर अस्थाई सीमितताएँ ज़रूरी हैं.
लेकिन इन सीमितताओं का ग़लत इस्तेमाल पत्रकारों की कार्यक्षमताओं पर वार करने के एक बहाने के तौर पर नहीं किया जा सकता.
आज, तथ्य व विश्लेषण मुहैया कराने के लिए मैं मीडिया का शुक्रिया अदा करता हूँ; हर सैक्टर के नेतृत्व को जवाबदेह ठहराने और सत्ता के सामने सच बोलने के लिए.
हम उन पत्रकारों का विशेष उल्लेख करेंगे जो सार्वजनिक स्वास्थ्य के बारे में जीवन दायी रिपोर्टिंग कर रहे हैं.
और, हम तमाम सरकारों से मीडिया कर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने व प्रैस स्वतंत्रता मज़बूत करने और क़ायम रखने का आहवान करते हैं, जोकि सभी के लिए शांति, न्याय और मानवाधिकारों से भरपूर भविष्य सुनिश्चित करने के लिए ज़रूरी हैं.
Open Video Category