Available languages:
दासता एवं परा-अटलांटिक दास व्यापार के पीड़ितों के स्मरण के अंतरराष्ट्रीय दिवस पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव का वीडियो संदेश 2019
19 Mar 2019 -  अटलांटिक पार दास व्यापार इतिहास में मानवीय बर्बरता के सबसे भयावह स्वरूपों में एक था.
सदियों तक, अफ़्रीका और उसके बाहर हुए अपराधों और उनके प्रभावों को हमें कभी नहीं भूलना चाहिए.
दासता को याद रखने के लिए संयुक्त राष्ट्र कार्यक्रम सुनिश्चित करता है कि सबक सीखे जाएं और उन्हें ध्यान में रखा जाए.
दासता से पीड़ित लोगों ने एक ऐसी क़ानूनी व्यवस्था के ख़िलाफ़ संघर्ष किया जिसके बारे में उन्हें पता था कि वो ग़लत है.
कई अवसरों पर उन्होंने आज़ादी की उम्मीद में अपने जीवन का त्याग कर दिया.
दमन करने वालों के ख़िलाफ़ जो लोग खड़े हुए, उनकी कहानियों को बताए जाने और उनके न्याय परायण प्रतिरोध को पहचानने की आवश्यकता है.
इस अंतरराष्ट्रीय स्मरण दिवस पर, हम उन लाखों अफ़्रीकी पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को श्रृद्धांजलि देते हैं जिन्हें मानवीयता से वंचित कर दिया गया और ऐसी घृणास्पद क्रूरता को सहन करने के लिए मजबूर किया गया.
दासता के मौजूदा स्वरूपों के ख़िलाफ़ खड़े होकर, हमारे दौर में नस्लवाद के ख़तरों के प्रति जागरूकता बढ़ाकर, और अफ़्रीकी मूल के सभी लोगों के लिए न्याय और समान अवसर सुनिश्चित कर हम उन सबका सम्मान करते हैं.
धन्यवाद.