Available languages:
भारत: यहूदियों के लिए शरणगाह
1 Feb 2019 -  नात्सी अत्याचार से बचने के लिए यहूदी समुदाय का भारत में शरण लेना इतिहास का वह पन्ना है जिस पर बात आम तौर पर ही कम होती है लेकिन यहूदियों के सामूहिक नरसंहार के पीड़ितों की स्मृति में स्मरण दिवस पर संयुक्त राष्ट्र में आयोजित एक कार्यक्रम में विशेषज्ञ और लेखक डॉ कैनेथ रॉबिन्स ने इतिहास के इस पन्ने पर अहम जानकारी साझा कीं. संयुक्त राष्ट्र समाचार ने डॉ रॉबिन्स से बात की जिसमें उन्होंने बताया कि यहूदी भारत कैसे आए और किन किन क्षेत्रों में उन्होंने अपना योगदान दिया.