Available languages:
रोहिंज्या युवाओं को हुनरमंद बनाने का प्रयास
26 Aug 2019 -  म्यांमार से भागकर बांग्लादेश आने वाले रोहिंज्या शरणार्थी, विशेषकर युवा, दैनिक जीवन की ज़रूरतों को पूरा करने में भी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं. इसी वजह से एक पूरी पीढ़ी में हताशा घर कर रही है और उनकी आशाएं धूमिल हो रही हैं. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनीसेफ़) रोहिंज्या समुदाय के युवाओं में हुनर विकसित करने और बच्चों की पढ़ाई लिखाई के लिए प्रयास कर रहा है.