Available languages:
एंतोनियो गुटेरेश (यूएन महासचिव) की धार्मिक नेताओं से विशेष अपील (11 अप्रैल 2020)
11 Apr 2020 -  आज, मैं सभी आस्थाओं के धार्मिक नेताओं से विशेष अपील करता हूँ कि वो विश्व भर में शांति की ख़ातिर काम करने के लिए एकजुट हो जाएँ, और कोविड-19 को हराने के लिए साझा लड़ाई पर ध्यान केंद्रित करें.
ये अपील मैं आध्यात्मिक कैलेंडर के ख़ास मौक़े पर कर रहा हूँ.
ईसाइयों के लिए ये ईस्टर का मौक़ा है. यहूदी पासोवर मना रहे हैं. और जल्द ही, मुसलमानों के लिए रमज़ान का पवित्र महीना शुरू होने वाला है.
ये सभी महत्वपूर्ण रिवायतें व परंपराएँ मनाने वालों को मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ.
हम इन मौक़ों को हमेशा समुदाय के लम्हों के तौर पर देखते आए हैं. इन मौक़ों पर परिवार इकट्ठा होते हैं. लोग गले मिलते हैं, हाथ मिलाते हैं और इंसानियत का हुजूम लगता है.
लेकिन इस बार का ये मौक़ा पहले से बिल्कुल अलग है.
हम सभी इस समय बिल्कुल एक अजब दुनिया में जी रहे हैं.
एक ऐसी दुनिया जहाँ रास्ते ख़ामोश हैं. दुकानों के दरवाज़े बंद हैं और प्रार्थनास्थल ख़ाली पड़े हैं.
और चिन्ताओं से भरी दुनिया. हम अपने प्रियजनों के लिए चिन्तित हैं और वो भी उसी तरह हमारे लिए चिन्तित हैं.
ऐसे दौर में भला हम हर्षोउल्लास कैसे मना सकते हैं?
आइए, हम सभी इन पवित्र लम्हों से कुछ प्रेरणा हासिल करें. इन क्षणों का इस्तेमाल प्रार्थना, धार्मिक शिक्षा को याद व ताज़ा करने में करें.
अपने इन धार्मिक कार्यों में हम उन स्वास्थ्यकर्मियों के साहसिक काम को भी याद करें जो इस भीषण वायरस के ख़िलाफ़ लड़ाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे हुए हैं, और उनके लिए भी जो हमारे शहरों और क़स्बों को गतिमान बनाए हुए हैं.
आइए, हम दुनिया भर बहुत कठिन परिस्थितियों और नाज़ुक हालात का सामना करने को मजबूर लोगों को भी याद करें.
जो युद्धक्षेत्रों और शरणार्थी शिविरों में फँसे हैं, जो झुग्गी झोंपड़यों और ऐसा स्थानों पर रहते हैं जहाँ इस वायरस के ख़िलाफ़ लड़ाई के लिए पर्याप्त साधन ही नहीं हैं.
और आइए, हम एक दूसरे में अपना भरोसा बहाल करें, और उस अच्छाई से ताक़त हासिल करें जो इस मुश्किल दौर में इंसानियत को प्रेरित कर रही है.
विभिन्न आस्थाओं के समुदाय और नैतिक परंपराएँ एक दूसरे का ख़याल करने के लिए कंधे से कंधे मिला रहे हैं.
हम एक जुट होकर इस वायरस को हरा सकते हैं, और हराएँगे भी – सहयोग, एकजुटता, और साझा इंसानियत में अपनी आस्था के बल पर.