Available languages:
विकलांग लोगों के अंतरराष्ट्रीय दिवस पर संदेश – 3 दिसंबर 2019
3 Dec 2019 -  हम जब विकलांग लोगों के अधिकार सुनिश्चित करते हैं तो हम 2030 एजेंडा के मुख्य वादे को पूरा करने के नज़दीक पहुँचते हैं, और ये वादा है – किसी को पीछे ना छोड़ा जाए.
बेशक अभी बहुत कुछ किया जाना है, लेकिन हमने सभी के लिए समावेशी दुनिया बनाने की दिशा में अहम प्रगति की है.
विकलांग व्यक्तियों के अधिकारों पर कन्वेंशन को लगभग सभी सदस्य देशों ने मंज़ूरी दे दी है, जिन देशों ने अभी इसे मंज़ूरी नहीं दी है, मैं उन सभी से भी इस कन्वेंशन को बिना और देरी किए मंज़ूरी देने का आहवान करता हूँ.
जून में, मैंने संयुक्त राष्ट्र की विकलांगता समावेशी रणनीति शुरू की थी. इसका मक़सद विकलांगों के समावेशन के बारे में मानक व नतीजे बढ़ाना है. ये पूरी दुनिया में और कामकाज के सभी स्थानों पर होना है.
और, सुरक्षा परिषद ने पहली बार - सशस्त्र संघर्षों में विकलांग लोगों की सुरक्षा के लिए समर्पित अपनी क़िस्म का पहला प्रस्ताव पारित किया है.
हम काम करके दिखाकर आगे बढ़ने की मिसाल क़ायम करना चाहते हैं.
इस अंतरराष्ट्रीय दिवस पर, मैं एक बार फिर विकलांग लोगों के लिए संयुक्त राष्ट्र का संकल्प दोहराता हूँ. जिसके ज़रिए सभी के लिए एक टिकाऊ, समावेशी और परिवर्तनशील भविष्य का निर्माण करना है. इनमें विकलांग महिलाएँ, पुरुष, लड़कियाँ और लड़के सभी शामिल हैं जो अपनी क्षमताओं का भरपूर इस्तेमाल कर सकें.
धन्यवाद.
Recent Video On Demand